Print Document or Download PDF

17 कुदरती घरेलु ईलाज जो आपको रखे स्वस्थ

Feed by sandy Cat- Health & Beauty
  • यदि आपने शराब बहुत ज्यादा पी ली हो तो 6 माशे फिटकरी को दूध या पानी में घोलकर पी लें या सेब का जूस 1 ग्लास पी लें आपको उलटी और नशा में बहुत राहत मिलेगी।
  • अफीम के नशा में अरहर के पत्ते को पीसकर पिलाये या दूध और घी पिलायें तो नशा जलदी कम हो जायेगा।
  • भांग के नशा उतारने के लिए आप अरहर की आधी छटांक दाल को पानी में उबालकर पीयें।
  • अगर आपने केले ज्यादा का लिया हो तो चूटी इलायंची चबायें।
  • आम अधिक काहने पर चाल जामुन और जामुन अधिक खाने पर थोडा काला नमक का सेवन कर लें।
  • हल्दी 3 माशे महावारी होने के पांच दिन बाद तीन दिन लेने से गर्भ नही ठहरेगा।
  • तरबूज अधिक खाने पर दो माशे नमक दो।
  • धतूरे के जहर पर गर्म पाने मे नमक मिलाकर दो।
  • दांत निकल्ने पर बच्चे को भुना सुहागा, शहद और मुहलटी 2-2 माशे महीने करके मसूडों पर आठ दिन मलो।
  • दस बून्द बकरी का दूध बतासे में डालकर रोज गाय के दूध से सेवन करें । जिस्मानी कमजोरी, पेशाब में जलन और रुक कर आना समाप्त होगकर पुरुषार्थ बढेगा।
  • खून की कहराबियां, खुजली, फोडा फुंसियां में आप नीम के ताजे पन्द्रह पत्ते रोज सुबह खाते रहने से लाभ मिलेगा आप पन्द्रह दिन में हीं परनाम देखोगे।
  • अगर आपको स्वपन रोग है तो आप चित्त होकर ना सोयें और पीतल की एक बर्तन को किसी कपडे में लपेटकर कपडे के बीच रखकर व बान्धकर सोएं।
  • रात का खाना थोडा और सोने से दो घंटे पहले करें ।
  • सोते वक्त दूध बिलकुल ना पीओ यह सिर्फ नौजवानों के लिए है और स्वप्न रोग से भी बचने के लिए।
  • सोते समय हाथ पैरों को ठण्डे पानी से अच्छे से धोएं, इससे आपको नीन्द भी जल्दी और अच्छी आयेगी और स्वप्न रोग भी नही होगा।
  • सोते वक्त खाने के बाद फौरन पेशाब करें। इससे गुर्दे का दर्द नही होता है और धातु बन्द होगी।
  • जामुन के 9 नर्म हरे और ताजे पत्ते खूब बारीक करें 9 छटांक पानी में रगड कर चान ले और रोज सुबह दस दिन तक पीओं। यह पेशाब में शक्कर आने को रोकने के लिए उत्तम दवा है। यह फार्मूला हर दो माह के बाद दस दिन करो। इससे खूनी दस्त भी बन्द होंगी।     

 

Read More.


Go Back