Print Document or Download PDF

मूली के फायदे

Feed by sandy Cat- Health & Beauty

पीलिया में : मूली का पत्ता, मूली का रस आधा पाँव, शक्कर २ तोले मिलकर सुबह पंद्रह - बीस दिन पिने से पीलिया में बहुत लाभप्रद मिलता है| खटाई का परहेज करें|

दाद खुजली होने पर : मूली के बीज, गंधक, आमलासार, गुगुल २ २ तोले, नीला तूतिया ६ चम्मच बारीक करके आधा पाव पानी से रगड़ कर पानी सूखने पर गोलिया बना लें| एक गोली मूली के पत्तों में जिस के दाद पर लगावें| दाद कुछ ही दिन में ठीक हो जाएगा|

गुर्दे के दर्द में : १ तोला कलमीशोरा, आधा पाव मूली का जल खरल करके छोटे बेर के सामान गोली बनाकर एक सुबह एक शाम जल के साथ दें|

बवासीर : रसौत दो तोले मूली को खोखला करके उसमें भरकर मुंह बंद करके उपलों की राख में भस्म कर लो, दूसरे दिन रसौत को निकालकर मूली के रस में छोटे बेर के समान गोली बना लो| एक एक गोली सुबह शाम खाने से खुनी बवासीर में लाभदायक है| गर्म चीजों का परहेज करें|

गले की सूजन : मूली का पानी एक पाव, नमक लाहौरी वाला एक तोला गर्म करके रोज पियें दो तीन दिनों में ठीक हो जाएगा|

Read More.


Go Back