Print Document or Download PDF

आम के फायदे


आम के फायदे

हाजमा दुरुस्त करने के लिए : मीठे आम का रस ५ तोले २ माशे नमक मिलाकर सुबह पिने से खाना न पचता हो उसे एक हफ्ते में दुरुस्त कर देता है।

लू के लिए : दो कच्चे ऍम भूनकर उनका गुदा निकालकर एक पाव पानी में बर्फ और चीनी डालकर नित्य सुबह शाम लें।

शुगर : ऍम के पत्ते पेड़ से गिर गए हों उन्हें महीन पीसकर २ माशे सुबह शाम ताजे पानी से पंद्रह दिन खाएं एवं मीठे का परहेज करें।

ताकत के लिए : मीठे आम का रस आधा पाव, दूध एक पाव, चीनी आधी छटाँक मिलकर लस्सी बनकर २ महीने तक शाम को पियें मरदाना ताकत और शरीर की दुर्बलता ठीक करने में उत्तम है। बर्फ डाल सकते है।

उलटी हाजमा : आम का रस, अर्क गुलाब, ग्लूकोज, कैल्सियम वाटर २ - २ तोले लेकर सबका रस मिला लें फिर उसे तीन खुराक दिन में तीन बार लें। गर्भवती स्त्री की उल्टियों में लाभप्रद है यह वजन का मात्रा है|

पेचिस : आम के पत्तो को छाया में सुखाकर बारीक़ कपडे में छानकर नित्य तीन चार बार ६ - ६ माशे गरम पानी के साथ लें और खिचड़ी खाएं।

हैजा : यदि उलटी दस्त हो तब दो तोले आम के नरम पत्ते लेकर आधा सेर पानी में उबालिए। जब पानी आधा रहे तब छान लें और दिन में दो बार प्रयोग करें हैजा ख़त्म हो जायेगा।

 

कुछ उपयोगी नापतोल: 8 चावल = 1 रत्ती | 8 रत्ती = 1 माशा | 4 माशा =1 टंक, 12 माशा = 1 तोला | 5 तोला = 1 छटांक | 4 छटांक = 20 तोला या 1 पाव | 8 छटांक या 40 तोला = 1 अधसेरा | 16 छटांक या 80 तोला = 1 सेर | 5 सेर = 1 पसेरी | 8 पसेरी = 40 सेर या 1 मन | 1 केजी = 86 तोला या 1 सेर 6/5 छटांक | 100 केजी = 1 क्विंटल या 2 मन 27 5/2 सेर।।. Read more at: http://fastread.in/explore.php

Read More.


Go Back