Print Document or Download PDF

पानी के फायदे और कैसे करें उपयोग

Feed by sandy Cat- Health & Beauty

पानी मिला परमेश्वर मिला

पुराने बुजुर्गो के मुख से यह शब्द सुनते थे जिनका अहसास अब होता है। वास्तव में ही यह जल ईश्वर का ही रूप है। ईश्वर हम से पानी का कोई मूल्य नहीं लेता है। मानव जीवन की सुरक्षा के लिए २४ घंटो में २६०० ग्राम पानी खर्च होता है। जिसमें से गुर्दों में १५०० ग्राम, त्वचा में ६५० ग्राम, फेफड़ों से ३२० ग्राम और मल मार्ग से १३० ग्राम प्रति दिन पानी खर्च होता है। जिसकी पूर्ति  भोजनमें रहने वाली जलांश द्वारा होता है। इस पर भी शरीर का संतुलन बनाए रखने के लिए हमें २.५ किलो पानी की आवश्यकता प्रतिदिन होती है। जो हम एक साथ नहीं परन्तु धीरे धीरे पिटे है।

पानी कब न पिएँ

गर्म भोजन, खीरा खाने पर, खरबूजा खाने पर, ककड़ी खाने पर पानी नहीं पीना चाहिए। इनके कम से कम आधे घंटे के पश्चात पानी पियें।

दूध, चाय छौंक के पश्चात पानी नहीं पीना चाहिए। धुप में चलकर आने पर जब पसीना आ रहा हो तो उस समय आकर एक डैम से पानी नहीं पियें।

पानी द्वारा रोग उपचार : स्वप्न दोष तथा वीर्य रोग

इन रोगों का उपचार ठन्डे पानी से प्रति दिन स्नान करने से होता है।

नकसीर : नाक से खून बहाने पर जब नकसीर आती हो तो सर में ठंडा पानी डालें।

कब्ज : कब्ज रोगियों को खाने के साथ घूंट - घूंट पानी पीना चाहिए। सुबह निहार मुंह नींबू पानी सेवन करना चाहिए।

जुकाम - नजला

सुबह उठकर गर्म पानी का एक गिलास पीने से यह रोग ठीक हो जाता है सत्यता यह है की पानी अमृत है दोस्तों

Read More.


Go Back