Print Document or Download PDF

चाय के लाभ

Feed by sandy Cat- Health & Beauty

चाय भी वनस्पति कुल की ही एक ओषधि है। हमारे मत के अनुसार यह प्रतिदिन पीने की नहीं है। इसका लाभ तभी आपको मिल सकता है जब आप इसे आवश्यकता के अनुसार सेवन करें। महुखे पेट चाय पीने से पाचन शक्ति कम हो जाती है। सोते समय चाय पिने से नींद नहीं आती।
खांसी, नजल, जुकाम, सर्दी लगना, बुखार जैसे रोगों में चाय पीना अच्छा है। इससे यह सब रोग भाग जाते है। आम भुखार, नजला, खांसी के लिए आप चाय में तुलसी के पत्ते, सौंफ, थोड़ा नमक मिलकर कुछ दिनों तक सेवन करें तो ये सब रोग अपने आप गायब हो जाएंगे।
जिन लोगो को शीघ्र पतन, वीर्य पतला होने का रोग लगा हो उन्हें चाय नहीं पीना चाहये। बच्चों को चाय न दें तो उनके स्वास्थ्य के लिए अच्छा रहेगा क्योंकि चाय से जिगर कमजोर होता है।

 

कुछ उपयोगी नापतोल: 8 चावल = 1 रत्ती | 8 रत्ती = 1 माशा | 4 माशा =1 टंक, 12 माशा = 1 तोला | 5 तोला = 1 छटांक | 4 छटांक = 20 तोला या 1 पाव | 8 छटांक या 40 तोला = 1 अधसेरा | 16 छटांक या 80 तोला = 1 सेर | 5 सेर = 1 पसेरी | 8 पसेरी = 40 सेर या 1 मन | 1 केजी = 86 तोला या 1 सेर 6/5 छटांक | 100 केजी = 1 क्विंटल या 2 मन 27 5/2 सेर।।. Read more at: http://fastread.in/explore.php. Read more at: http://fastread.in/explore.php

Read More.


Go Back