Print Document or Download PDF

अगर कान में दर्द हों, बहरापन, कान का बहना हो तो

Feed by sandy Cat- Health & Beauty

प्याज के रस को कुछ गरम करके २-३ बून्द कान में डालने से कान का दर्द, पास आना और कान में सांय सांय होना बंद हो जाता है।

पात सुदर्शन गरम कर आरक कान में दाल।

फोड़ा फुंसी आदि का मिठे दर्द तत्काल।।

पीले पात मदार में ग्रिट को लेउ मिलाय।

प्याज गरम रस डालिए कारण रोग नसाय।।

 

कान का बहना

 

३-४ काली लहसुन छीलो, एक टोला सिंदूर, एक छटांक सरसों के तेल में डालकर आग पर खूब पकाएं। जब लहसुन जल जाय तब उतारकर छाने और शीशी में भरकर रख दें। इसकी २ बून्द नित्य कान में डालने से मवाद, कुजलीप, कर्णनाद आदि में २ विकार नस्ट होते है।

दस ग्रावम ग्लेसरीन में २ ग्राम बोरिक पाउडर मिलाकर चार दिन कान में डालें, पास आना बंद करेगा।

भगरा का रस निकालकर कान में ४-५ बून्द डालें कान बहना बंद करेगा दूसरे दिन नीम की पत्तियों को उबालें और उन्हें निकालकर गुनगुने पानी से कान साफ़ करें यह विधि ४-५ दिन करें।

 

बहरापन

चार टोले कडुए बादाम के तेल से १२ जवान लहसुन साफ़ करके एक बर्तन में भर लें। २ बूँद नित्य गरमकर कान में डालें बहरापन ठीक करेगा।

सूखा फल ले बेल का उसको खूब महीन पीस ले फिर गाय का मूत्र में सानकर हलुआ सामान बना लें और सरसों के तेल में डालकर उसको खूब मिला लें फिर इसका सेवन नित्य करने से बहरापन मिट जाएगा।

 

कुछ उपयोगी नापतोल: 8 चावल = 1 रत्ती | 8 रत्ती = 1 माशा | 4 माशा =1 टंक, 12 माशा = 1 तोला | 5 तोला = 1 छटांक | 4 छटांक = 20 तोला या 1 पाव | 8 छटांक या 40 तोला = 1 अधसेरा | 16 छटांक या 80 तोला = 1 सेर | 5 सेर = 1 पसेरी | 8 पसेरी = 40 सेर या 1 मन | 1 केजी = 86 तोला या 1 सेर 6/5 छटांक | 100 केजी = 1 क्विंटल या 2 मन 27 5/2 सेर।।. Read more at: http://fastread.in/explore.php

Read More.


Go Back