Print Document or Download PDF

गंजापन क्यों होता है ओर इसका सरल इलाज

Feed by sandy Cat- Health & Beauty

आजकल गंजेपन से बहुत से लोग परेशान है. गंजेपन के बहुत से कारण हो सकते हैं जिसके कारण सर के बाल धीरे धीरे गीरने लगते हैं आज हम कुछ ऐसे ही कारणों पर नजर डालेंगे। ज्यादातर आनुवंशिकी की वजह से बहुत से लोगों में गंजापन आ जाता है लेकिन कभी कभी बालों का झड़ना सिर्फ आनुवंशिकी के अलावा अन्य चीजों के कारण भी होता है. यह एक मिथक है कि गंजापन पूरी तरह से अपनी मां के परिवार के आनुवंशिकी पर निर्भर है लेकिन सच तो यह है कि आपके माता और पिता किसी की भी फैमिली में अगर गंजापन की आनुवंशिकता है तो इसका असर आप पर जरूर पड़ेगा और आपके गंजा होने के चांस बने रहेंगे।

महिलाओं में बालों के झड़ने का मुख्य काण यह देखा गया है कि वो अपने बालों को बहुत खींच कर बांधती है.

बहुत सारी महिलाएं जो बच्चे को जन्म देती हैं वो जन्म देने के कुछ कुछ महीनों बाद असामान्य बालों के झड़ने का अनुभव करती हैं।

अगर आपके शरीर में आयरन की कमी है तो इसका मतलब है कि आपके खून में उन पोषक तत्वों की कमी है जो आपको चाहिए और जिसका मतलब है कि आपके बालों को भी वो पोषक तत्व नहीं मिल पा रहे जिनकी इन्हें जरुरत होती है और इसलिए ही बाल भी झड़ने लगते हैं.

कीमोथेरेपी, रक्तचाप, हार्मोनल, माइग्रेन और सीज़र के लिए दी जाने वाली कुछ दवाओं के साइड इफ़ेक्ट के कारण भी बाल झड़ने लगते है. अगर आपने हाल ही में कोई दवाई लेनी शुरू किया है तो आपको डॉक्टर्स से इसके साइड एफीक्टस के बारे में जरूर जानकारी लेनी चाहिए।

उपाय

आम के अचार का पुराना तेल सर पर नित्य एक वर्ष मालिश करते रहने से फिर बाल उगने लगते है।

तूतिया १ ग्राम, मुर्दासन ६ ग्राम, सोना मक्खी ६ ग्राम, लाल मिर्च १ ग्राम, जायफल १२ ग्राम लौंग ६ ग्राम। इन सब वस्तुओं को कूट और बाद में बारीक कपडे में छानकर सौ ग्राम सरसों के तेल में मिलाकर रोज सर पर चालीस दिन तक मालिश करें, बाल नहीं झड़ेंगे।

Read More.


Go Back