Print Document or Download PDF

दंत रोग सुधार

Feed by sandy Cat- Health & Beauty

शरीर में नेत्र बादशाह और दांत वजीर है, इनकी रक्षा अति आवश्यक है।

दंत पीडा दमन करें

रीठे की बस्म एक छटांक, फिटकरी फूला 1 तोला, काला नमक 6 माशे, सुहागा खील 6 माशे। सबको एकत्रित कर पीस कर बोतल में भर ले बस दवा तैयार है। पीडा के समय डेध माशा के करीब दवा हथेली पर रखकर दर्द की जगह पर मालिश करके लार को गिरने दें, यह फूले हुए मसूडो की अनुपम दवा है।

दंत मंजन

चूल्हे की जली मिट्टी दो तोले, गुजराती अकरकरा एक तोला, कंडा की भस्म डेढ तोला, बादाम के छिलके की बस्म दो तोले, लौंग 6 माशे, कपूर 3 माशे, सबको कूट छानकर बोतल में भर लो।

दाड-दांतों का कीडा, मसूडों की पीडा, पायरिया, बदबू, खून का आना आदि रोगों में लाभदायक है।

पायरिया नाशक

एक तोला नौसादर फ़िटकरी 2 माशे, माल मस्तंगी एक तोला, अकरकरा 6 माशें वायविंडग 6 माशे, सबको छानकर रख लो, सुबह –शाम मंजन से दांत हिलना पानी जाना, मसूडे फूलना, मसूडों मे मवाद आना आदि रोग दूर करता है।

दंत बाधा पर चमत्कारी रोग

सत अजवायन 6 माशे, सत बैरोजा 6 माशे, लौंग एक तोला दालचीनी का तेल 1 तोला सग को इकट्ठा करो दवा तैयार है।

नोट: उपरोक्त चार दवाइयों को पहले शीशी में भरकर बन्द कर एक घंटे धूप में रख दो, बाद में दोनो तेल डालकर तथा मजबूत कार्क लगाकर रखो, रोग पीडा के वक्त रुई लगाकर पीडा के स्थान पर लगाने से शीघ्र लाभ हो जाएगा, एक या दो बून्द सरसों से कान का दर्द फौरन बन्द होता है, एक तोला पानी में एक दो बून्द डालकर पीने से कै बन्द हो जाते हैं तथा सिर में पीडा बन्द हो जाती है।

दांत दर्द में उत्तम नुस्खा

सफेद फिटकरी 1 छटांक को आक के दूध में खरल कर दर्द की जगह लगाने से दर्द फौरन दूर होता है।

दांतो की क्रिमी नाशक दवा

कठेरी फल के बीज चिलम में रखकर तम्बाकू के समान पीए तो कीडे के कारण दांत का दर्द मुख में धुआं रोकने से बन्द होगा। ये आजमाया योग है।

मजबूत दांत करने की दवा

नीलाथोथा घी बुना हुआ, सोंठ, कत्था सफेद जली हुई सुपारी सबको पीस मंजन बनावे इसके रोज प्रयोग से दांत साफ हो जाते है।

सीप का जला हुआ चूर्ण, मक्का की जली मिर्च 3 मीशे, फिटकरी एक तोला, सबको डालकर तथा पीस छानकर मनजन करने से दांत साफ हो जाते है।

पारम्परिक भारतीय वज़न इस प्रकार हैं -

४ धान की एक रत्ती बनती है, ८ रत्ती का एक माशा बनता है, १२ माशों का एक तोला बनता है, ५ तोलों की एक छटाक बनती है, १६ छटाक का एक सेर बनता है, ५ सेर की एक पनसेरी बनती है, ८ पनसेरियों का एक मन बनता है, या पुराने भारतीय नाप-तौल :- 8 खसखस = 1 चावल,

8 चावल = 1 रत्ती, 8 रत्ती = 1 माशा, 4 माशा =1 टंक, 12 माशा = 1 तोला, 5 तोला = 1 छटांक, 4 छटांक = 20 तोला या 1 पाव, 8 छटांक या 40 तोला = 1 अधसेरा, 16 छटांक या 80 तोला = 1 सेर, 5 सेर = 1 पसेरी, 8 पसेरी = 40 सेर या 1 मन, 1 केजी = 86 तोला या 1 सेर 6/5 छटांक, 100 केजी = 1 क्विंटल या 2 मन 27 5/2 सेर।

Read More.


Go Back