Print Document or Download PDF

गठिया संविधवात (जोड़ों का दर्द) का इलाज

Feed by sandy Cat- Health & Beauty

इस रोग में प्रायः: सभी जोड़ों में दर्द होता है तथा कुछ सूजन भी आ जाती है। यह अक्सर वृद्धावस्था में होता है। रोगी चलने में असमर्थ रहता है।

चौलाई का रस गठिया के रोगियों के लिए लाभप्रद उसकी सब्जी भी खाई जा सकती है।

केले का रस गतिया पर लगाने और करेले की की सब्जी नित्य खाते रहने से शरीर को काफी मात्रा में फास्फोरस मिल जाता है। शरीर में स्फूर्ति रहती है। यह भूख बढ़ाने व् खाना पचानेवाला है।

कुछ उपयोगी नापतोल: 8 चावल = 1 रत्ती | 8 रत्ती = 1 माशा | 4 माशा =1 टंक, 12 माशा = 1 तोला | 5 तोला = 1 छटांक | 4 छटांक = 20 तोला या 1 पाव | 8 छटांक या 40 तोला = 1 अधसेरा | 16 छटांक या 80 तोला = 1 सेर | 5 सेर = 1 पसेरी | 8 पसेरी = 40 सेर या 1 मन | 1 केजी = 86 तोला या 1 सेर 6/5 छटांक | 100 केजी = 1 क्विंटल या 2 मन 27 5/2 सेर।।. Read more at: http://fastread.in/explore.php

Read More.


Go Back