Print Document or Download PDF

बवासीर का अचूक उपाय

Feed by sandy Cat- Health & Beauty

रसौत, ऐबला, निबौली नीम, बकायन के बीज, पोस्य हलाला आरक प्रत्येक ६-६ माशे, काली हरड़ की छाल, ३ माशा चाक्स ६ माशे, पपीता १ तोला को कूट छानकर मूली के रस में चने के बराबर गोली बनाओ २-२ गोली सुबह शाम ताजे पानी के साथ खाएं।

आर्थिक कम हो उनके के लिए : सीपी असली पांच तोला नीम के पत्तों के रस में खरल करके टिकिया बनाओ, सूखने पर मिट्टी के बर्तन में कपरोटी करके ५-६ अंडे को आग में रखकर भस्म करो, उसे बारीक कर मलाई या मुनक्का में खिलाओ। एक हफ्ता में बवासीर दूर होगा, गरम चीज, बैंगन और लाल मिर्च का परहेज करो।

जमींकन्द खुश्क करके जो ३२ तोले वजन में हो बराबर के घी में भूनकर कूटलो चीते की छाल १६ तोले, सौंठ चार तोले, काली मिर्च दो तोले कूट-छानकर ५४ तोले गुड़ में मिलाकर एक एक तोला सुबह ताजे पानी के साथ लेने से खूनी, वादी बवासीर में लाभ होता है।     

हींग चार माशे केले की आधी-फली में रखकर निराहार खाइए।

अजवायन, सुरासानी, भांग, घोडे के सुम का बुरादा हर चार तोले पीसकर गाय के बच्चे के मूत्र में पकाकर मरहम बना कर छ: माशे कपडे पर लगाकर बान्धो।

हीरा कसीस, सेन्धा नमक, पीपल, सौंठ पंजकुडियारी, परवान वैद, सफेद कन्नेर की जड, व्याविंडग, चेबरत, हरताल एक समान वजन लेकर पीसकर गरम घी से चौगुना लो और सभी मिलाकर पकाओ जब सब गल जाय और घी ऊपर आ जाए तो उसे उतार शीशी में भारत लो, यह बवासीर के मस्से औइर दाद पर भी लाभप्रद है।  

कुछ उपयोगी नापतोल: 8 चावल = 1 रत्ती | 8 रत्ती = 1 माशा | 4 माशा =1 टंक, 12 माशा = 1 तोला | 5 तोला = 1 छटांक | 4 छटांक = 20 तोला या 1 पाव | 8 छटांक या 40 तोला = 1 अधसेरा | 16 छटांक या 80 तोला = 1 सेर | 5 सेर = 1 पसेरी | 8 पसेरी = 40 सेर या 1 मन | 1 केजी = 86 तोला या 1 सेर 6/5 छटांक | 100 केजी = 1 क्विंटल या 2 मन 27 5/2 सेर।।. Read more at: http://fastread.in/explore.php

Read More.


Go Back