Print Document or Download PDF

योनि द्वार संकुचित करें (योनि द्वार छोटा करें)

Feed by sandy Cat- Health & Beauty

1. धुली भांग 1 तोला, माजूफल 4 तोला, कपूर 1 तोला, उत्तम मेहन्दी, असगन्ध 1-1 तोला मोगरस 1 तोला, जायफल, दायहल्दी 2-2 तोला, अफीम 3 माशा सबको छानकर माजूफल क्वाथ से चना बराबर गोली बनालें। इस गोली को लेकर रुई में लपेटकर योनि द्वार में रखने से योनि संकुचित हो जाएगी।

2. गोन्द पलाम पुष्प, बडी इलायची, सफेद कत्था, माजुफल, माई बालचर, मोचरस, सुपारी काली, भीगा, त्रिफला 1-1 तोला और फिटकरी 10 तोला लीजिए। पहले फिटकरी को आग पर पिघलाकर इन सब दवाओं को मिला दें। फिर मुनातिव ग्वार पाथे का रस भी मिला दें। जंगली बेर के बराबर गोली बनालें। एक गोली मैथुन करने से एक घण्टे पहले योनि भाग में रखने के बाद फिर सम्भोग करने से मनुष्य को अपूर्व आनन्द आता है और उस आनन्द का वर्णन करना उसकी ताकत के बाहर की चीज है। दोनों महिला-पुरुष स्नान किए हुए हो, इत्र वगैरह से सुसज्जित हो, उन्हें नीचे लिखी दवा पान से रखकर खानी चाहिए।

सोंठ, मिर्च लोंग जायफल, जावित्री, जावरान, मुश्क अम्बर, भमसेनी कपूर, चोसठा पेहरी पीपल अभ्रक, मकरध्चज सभी के बराबर अफीम मिला उडद के बराबर गोली बना लें। इन्हे पान में रखकर खिलाइये पान में चूना की मात्रा अधिक होनी चाहिए। महिला को भी यह औषधि खिलानी चाहिए। कपूर 4 रत्ती सुहागा मिलकार खिलाए और अधिक जल्दी न करें। आधा घण्टे तक अप्ने लंगोट को सम्भालकर औरत से कामशास्त्र के अनुसार योनि भाग के त्रिकोण फल तथा स्तनों को मसलता रहे जब तक कि औरत बस न कह दे। तभी मैथुन शुरु कर देना चाहिए। इस विधि से अगर गणिका भी हुई तो भी हार मानेगी।

3. फिटकरी 1 तोला, पिपरमेंट आफ पुटास आधा माश, पानी ठंडा बारह छटांक उपरोक्त लोशन की पिचकारी द्वारा डस करें। यह लोशन योनि को ढीलापन, धातुस्राव बदबू आदि नष्ट करता है। योनि के तिरछेपन की हैजलान द्वारा मलबड कर किसी दाई से ठीक कराओ।

4. पलाके गूलर के फूलों को तिल के तेल में बारीक पीस योनि पर लेप करे तो शिथिल हुई योनि इस लेप से कठोर हो जाएगी।

5. आम का कोपल (कोच्चा तथा कोमल पत्ते) कपूर का चूर्ण शहद मिलाकर योनि में लेप करे तो स्त्री की योनि सिकुड अत्यंत तंग हो जाएगी।

6. जुही या अनार के फुल पीसकर योनि में रखने से वह दृढ हो जाती है।

 

पारम्परिक भारतीय वज़न इस प्रकार हैं -
४ धान की एक रत्ती बनती है, ८ रत्ती का एक माशा बनता है, १२ माशों का एक तोला बनता है, ५ तोलों की एक छटाक बनती है, १६ छटाक का एक सेर बनता है, ५ सेर की एक पनसेरी बनती है, ८ पनसेरियों का एक मन बनता है, या पुराने भारतीय नाप-तौल :- 8 खसखस = 1 चावल, 
8 चावल = 1 रत्ती, 8 रत्ती = 1 माशा, 4 माशा =1 टंक, 12 माशा = 1 तोला, 5 तोला = 1 छटांक, 4 छटांक = 20 तोला या 1 पाव, 8 छटांक या 40 तोला = 1 अधसेरा, 16 छटांक या 80 तोला = 1 सेर, 5 सेर = 1 पसेरी, 8 पसेरी = 40 सेर या 1 मन, 1 केजी = 86 तोला या 1 सेर 6/5 छटांक, 100 केजी = 1 क्विंटल या 2 मन 27 5/2 सेर।
 

Read More.


Go Back