Print Document or Download PDF

कुछ घरेलु उपाय जो आपके जीवन को सुखमय बनाएगा

Feed by sandy Cat- Health & Beauty
  • 1. सतावर 9 ग्राम बारीक करके 250 ग्राम दूध के साथ 8 दिन तक खाने से बार बार पेशाब आना ठीक होता है। कमर दर्द की बीमारी ठीक होगी। मर्दाना ताकत बढेगी।
  • 2. कान में कीडा धुस जाए तो गर्म पानी में थोडा सा नमक डालकर कान में डालें और कान का उल्टा कर दें। कीडा मर कर बाहर निकल जाएगा।
  • 3. अगर नाक में कोई चीज फंस जाए तो तम्बाकू पीसकर सूंघिये ताकि छींक आने पर फंसी चीज बाहर निकल जाएगी।
  • 4. मछली का कांटा अगर गले में फंस जाए तो केला खा लें।
  • 5. किसी ने गलती से कांच खा लिया हो तो उबले हुए आलू खिलाएं या 12 ग्राम इसबगोल की भूसी दूध के साथ खिला दें।
  • 6. आंख में मच्छर घुस गया हो तो उल्टे पाव की तरफ चलना शुरु कर दें मच्छर निकल जाएगा।
  • 7. हरा धनिया कूटकर उसका पानी निचोड कर 25 ग्राम पिलाने से उल्टी रुक जाती है। इसको गर्भवती भी पी सकती है।
  • 8. हिचकी बन्द न हो तो पुदीने के पत्ते या नींबू चूस लीजिए।
  • 9. डी.टी.टी. पाउडर को पानी में घोलकर चारपाएयों में डालने से खटमल मर जाते है।
  • 10. चूरन हाजमा : अजवायन, काली मिर्च, सौंठ, नमक, लाहौरी, सफेद-जीरा, मोटी इलायची, नौसादार, धनिया, पुदीना सब 10 – 10 ग्राम, लौंग, काला नमक, 10 ग्राम सबको बारीक करके खुराक वजन 3 ग्राम, ताजा पानी से या वैसे ही खानें से गैस, पेट दर्द की ठीक करके खाना हजम करेगा।
  • 11. शराब छोडना : आप एक बोतल असली सौंफ का अर्क मिलाकर रखें। जितनी शराब आप रोज पीते है, एक तोला उसमें कम पीनी शुरु करें और बोतल से एक तोला सौंफ का अर्क मिला लिया करें। चालीस दिन करने से आपको शराब से छुटकारा बिना तकलीफ के मिल सकता है। शराब पीए वक्त जरुरत के अनुसार पानी मिलाया करें।
  • 12. अफीम छोडना : आप जितनी अफीम रोजाना खाते है उसी हिसाब से महीन में की इकट्ठी लेकर एक बोतल में डालकर बोतल को पानी से भरकर अफीम अच्छी तरह से पानी में मिलाक्र तीस निशान लगा दें। एक दूसरी बोतल में अफीम के बराबर रसौत डालकर बोतल में पानी भर लें। अपने टाइम पर ही पीकर उतना ही रसौत वाला पानी अफीम वाली बोतल में डाल दिया करें। बिना परेशानी के अफीम छूट जाएगी।
  • 13. आम की लकडी का कोयला बारीक पीसकर 100 ग्राम, लाहौरी नमक 10 ग्राम, इलायची का तेल 10 ग्राम, सबको अच्छी तरह मिलाकर शीशियों में भरकर रख लें एक बार के लगने से ही दांत सफेद हो जाते हैं।
  • 14. पायरिया नाशक दंत मंजन बनायें: पीली पत्ती वाला तम्बाकू, सौ ग्राम तवे पर डालकर हल्की आग पर चम्मच से हिलाते रहें। जब धुंआ देना बन्द हो जाए तो तबे से हटाकर बारीक पीस ले। 15 ग्राम लाहौरी नमक 5 ग्राम काली मिर्च पीसकर मिला लें। रोजाना मलने से खून, पीप आना बन्द हो जाता है।
  • 15. मोटा होना : अगर आप मोटा होना चाहते हों तो 10 गिरी बादाम की रात को पानी में भिगोकर सुबह छिलका उतार कर बारीक पीस लें और उसमें 30 ग्राम मक्खन और थोडी सी चीनी मिलाकर डबल रोटी के चार टुकडो में लगाकर खाएं ऊपर से एक पाव दूध पी लें। 6 महीने में मोटे हो जाएंगे और दिमाग भी तेज होगा। दूध के साथ रोटी खाने से भी मोटे हो सकते है।
  • 16. बुखार : तुलसी के हरे पत्ते 10 ग्राम, काली मिर्च 3 ग्राम, बारीक करके काली मिर्च के बराबर गोलियां बनाकर सुखा लें। दो गोली सुबह, दो गोली दोपहर तथा दो गोली दोपहर तथा दो गोली शाम को पानी से खिलाएं हर किस्म के बुखार के लिए अच्छा इलाज है।
  • 17. सुन्दर बनें : 5 गाजर का रस, टमाटर का रस, चुकन्दर का रस सब 20-20 ग्राम रोजाना दो माह पीने से चेहरे की झाइयां, दाग, मुहांसे दूर होकर चेहरा सुन्दर और साफ हो जाता है।
  • 18. निद्रा : 24 घंटो में मनुष्य को 16 घंटे कार्य करना चाहिए और 8 घंटे सोना चाहिए 1 अर्थात समय का दो तिहाई भाग श्रम के लिए है और एक तिहाई भाग विश्राम के लिए 8 घंटे से अधिक सोना विलास को बढाता है तो 8 घंटे से कम सोना आलस्य की वृद्धि, कार्यक्षमता की हानि और पाचन शक्ति की क्षति करता है। एक साथ 8 घंटे सोना उतना हितकर नही है। जितना थोडा-थोडा करके नित्य 8 घंटे की निद्रा के लिए सर्वोतम क्रम इस प्रकार है। 1. रात्रि 10 बजे से प्रात: 4 बज तक = 6 घंटे। 2 प्रात: ईश्वर प्रार्थना, शौच, स्नान, ध्यान, व्यायाम, प्रणायाम, भ्रमण तथा प्रातराश से निवृत होकर आधा=घंटा। 3. मध्याह भोजनोपरांत एक घंटा। साम भोजन सूर्यासत से पहले करना चाहिए और सूर्यास्त के उपरांत सौ दो सौ गज भ्रमण करके आधा घंटा शयन करना चाहिए।

Read More.


Go Back