Print Document or Download PDF

भ्रष्टाचार

Feed by sandy Cat- Essay

‘भ्रष्टाचार’ आजकल सबसे ज्यादा प्रयोग किया जाने वाला शब्द है। यहां तक कि बच्चों को भ्रष्टाचार के विषय में पूरी जानकारी होती है। भ्रष्टाचार हमारे समाज के प्रत्येक क्षेत्र में तथा प्रत्येक जीवन में किसी-न-किसी रुप में व्याप्त है। भ्रष्टाचार आधुनिक समाज की देन है तथा भ्रष्टाचार को सभी ने स्वीकार किया है।

भ्रष्ट संसार में कोई नहीं रहना चहता, परंतु आज के मनुष्य के पास इसके अलावा और कोई उपाय नहीं है कि वह भ्रष्ट संसार में ही रहे क्योंकि प्रत्येक क्षेत्र में भ्रष्टाचार व्याप्त है। ज्यादातर सरकारें, निजी संस्थान आदि सभी भ्रष्ट है।

पूर्व समय में सभी लोग भ्रष्टाचार से बचने का प्रयास करते थे। तथा भ्रष्टाचार के मामले में फंसने पर शर्माते थे। परंतु आज के समाज में भ्रष्टाचार जीवन का एक हिस्सा है तथा अधिकतर मनुष्यों ने इसे स्वीकार भी किया है। कोई बिरला ही होगा जो अपना कोई कार्य भर्षटाचार के बिना करवा लेता है। बल्कि आजकल कोई कार्य पीछे के दरवाजे या भ्रष्ट लोगों की मदद के बिना नहीं किया जा सकता।

सरकार ने समाज तथा व्यवस्था में से भ्रष्टाचार को बाहर निकालने के लिए काफी प्रयास किए परंतु सरकार सफल नहीं हो पाई, इसका एक कारण व्यवस्था का स्वयं भ्रष्ट होना भी है। ज्यादातर लोग अपने कार्य करवाने के लिए इंतजार नहीं करना चाहते तथा अपने कार्यों को रिश्वत देकर करवा लेते हैं तथा इस प्रकार से ही भ्रष्टाचार फैलाता है।

भ्रष्टाचार हमारे समाज में एक दीमक की तरह है जो लगातार हमारे देश की व्यवस्था को चाट रहा है। इसे अपने देश से हटाने के लिए केवल सरकार को ही नहीं बल्कि देश की जनता को भी जागरुक होना होगा।

Read More.


Go Back