Print Document or Download PDF

विज्ञान का वरदान

Feed by sandy Cat- Essay

आधुनिक युग में विज्ञान के अविष्कारों ने विश्व में क्रान्ती सी उपन्न कर दी है। विज्ञान के बिना मनुष्य के अस्तित्व की कल्पना भी नही की जा सकती। आज से कुछ वर्ष पूर्व विज्ञान के अविष्कारों की चर्चा से ही लोग आश्चर्यचकित हो जाते थे परंतु आज वही अविष्कार मनुष्य के जीवन में पूर्णत: घुल मिल गए हैं।

विज्ञान ने हमें अनेक सुख सुविधाएं प्रदान की है। विज्ञान, मानव-जीवन के लिए वरदान सिद्ध हुआ है- पहले समय में पद-यात्रा कर एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाया करते थे परंतु आज हमें रेल, बसें तथा हवाई जहाज अपने गंतव्य पर बहुत कम समय में पहुंचा देता है। पहले अपने प्रिय लोगों के विषय में कुशल-क्षेम जानने के लिए चिट्टी-पत्र का इस्तेमाल किया करते थे अब हम आधुनिक युग में टेलीफोन, कम्प्यूटर आदि की मदद से हमें कहीं भी बात कर सकते है। विज्ञान की मदद से कृषि क्षेत्र में भी व्यापक परिवर्तन आए हैं। कई कीट जो पहले फसलों को नष्ट करके हमारे जीवन को प्रभावित करते थे वे अब कीटनाशक के मदद से नष्ट हो जाते है। चिकित्सा के क्षेत्र में भी विज्ञान महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। किसी भी बिमारी का इलाज करना आज के युग में मुश्किल से आसान हो गया है। हमारे दैनिक जीवन में रेडियो, टी.वी., फ्रिज, कूलर आदि भी विज्ञान की ही देन है।

हमें विज्ञानों पर निर्भर नही रहना चाहिए। विज्ञान हमारे लिए वरदान के समान है परंतु ज्यादा आरामदायक चीजों का प्रयोग करने से हम स्वयं मेहनत करने से कतराते है तथा अपने शरीर का नुकसान कर लेते हैं।

Read More.


Go Back