Print Document or Download PDF

समाचार पत्र तथा हमारा दैनिक जीवन

Feed by sandy Cat- Essay

समाचार पत्र हमारे दैनिक जीवन का दर्पण है। दैनिक जीवन में जो कुछ घटित होता है वह सामाचार पत्र में दिखाई देता है। जो लोग प्रतिदिन समाचार-पत्र पढते हैं, उन्हें नवीन तथ्यों का ज्ञान होता है। उन्हें उन तथ्यों की चिंता नही होती है जिन्हें वे नही जानते हैं। सभी महत्वपूर्ण स्थानीय, राष्ट्रीय तथा अंतराष्ट्रीय समाचार, समाचार-पत्रों में दिए जाते हैं इसलिए समाचार-पत्र पढने की आदत बहुत महत्वपूर्ण है। आधुनिक जीवन में इसका अत्यधिक मूल्य है। जो व्यक्ति प्रतिदिन समाचार-पत्र नहीं पढता है वह अपने आस-पास होने वाली घटनाओं से अपरिचित रहता है।

समाचार-पत्र दृष्टिकोण की भी रचना करते हैं तथा आपके आस पास होने वाली घटनाओं से अपरिचित रहता है।

समाचार-पत्र दृष्टिकोण की भी रचना करते हैं तथा आपके आस-पास होने वाली घटनाओं के विकास पर भी शक्तिशाली प्रभाव डालते हैं। आप संवाददाता नहीं हो सकते तथा आपके लेख संपादकों द्वारा समाचार-पत्रों में प्रकाशित नहीं किए जा सकते, किंतु आपके समाचार के संपादक को एक अच्छा पत्र सदैव लिख सकते हैं तथा विभिन्न घटनाओं पर अपने विचार प्रकट कर सकते हैं, जो प्रकाशित किए जाएंगे। यदि आप एक समाचार-पत्र के संपादकीय में कुछ त्रुटि पाते हैं तो उसकी आलोचना भी कर सकते हैं यदि आप निष्कपट तथा अपने दृष्टिकोण पर अडिग हैं तो उसे प्रकाशित किया जाएगा। समाचार-पत्र एक सरकार तथा राष्ट्र की नीतियों को आकार देते हैं। ये जनता के विचारों को प्रतिबिम्बित करते हैं तथा जनता के विचारों के प्रतिबिम्बक, निर्माता तथा जनक हैं। इसलिए समाचार-पत्रों का अत्यधिक शैक्षिक मूल्य है। जिज्ञासा मानव प्रकृति का नियम है तथा हम सभी जानना चाहते हैं कि शहर, राज्य तथा संसार में क्या घटित हो रहा है। समाचार-पत्र हमारी जिज्ञासा को शांत करते हैं। यदि हम सुबह का समाचार-पत्र नहीं पाते या किसी कारण से उसे नही पढ पाते हैं तो हमें ऐसा प्रतित होता है कि हमारे जीवन से कुछ लुप्त हो गया है। यह ऐसा है जैसे हमने कुछ अत्यधिक मूल्यवान खो दिया हो।

अनेक अफवाहें सदैव पनपती रहती हैं और यदि हम नियमित रुप से समाचार-पत्र नहीं पढते हैं तो हम अफवाहों के व्यापारियों के शिकार बन जाएंगे। वे हमारे जीवन पर बुराई का प्रभाव डाल देंगे। केवल स्तरीय समाचार-पत्रों को पढने पर ही हम जान सकते हैं कि क्या सही है व क्या गलत? सही समाचारों पर ही हम अपने निर्णयों को आधारित कर सकते हैं तथा स्वार्थी लोगों द्वारा हमें पथभ्रष्ट करने व कभी-कभी ठगने के लिए हमारे चारों ओर फैलाई नई सूचनाओं द्वारा बहकाए नही जा सकते हैं।

विश्व में चारों ओर होने वाली रुचिपूर्ण तथा रोमांचक घटनाओं की सूचना प्रतिदिन समाचार-पत्रों में दी जाती है। इसलिए समाचार-पत्र पढना एक प्रशंसनीय आदत है। आप समाचार-पत्रों की सहायता के बिना समसामयिक घटनाओं की जानकारी प्राप्त नहीं कर सकते हैं। समाचार-पत्रों का कार्य पाठक को चिंतामुक्त करके उसका मनोरंजन करना भी है। अत: समाचार-पत्रों में उदासीन व हल्के समाचारों के अतिरिक्त चुटकुले व जीवन से सम्बन्धित मसालेदार समाचार भी प्रकाशित किए जाते हैं। ये संसार की गम्भीर घटनाओं के पढने योग्य बनाते हैं। ये दुर्घटनाओं की भी सूचना देते हैं। अब मृत्यु, विवाह तथा जन्म की सूचनाएं समाचार-पत्रों में देना एक साधारण प्रचलन बन गया है, जिससे कि रिश्तेदार मे6 से प्रत्येक को व्यक्तिगत रुप से सूचना देने के स्थान पर यह समाचार शीग्रतिशीघ्र पहुंच सके क्योंकि व्यक्तिगत रुप से जानकरी देने में अधिक समय लगता है।

समाचार-पत्रों में विज्ञापन भी आते हैं जिनमें नई वस्तुएं तथा उनके अच्छे मूल्यों का प्रस्ताव दिया जाता है, जिन्हें हम प्राप्त करना चाहते है, यह विज्ञापन अत्यधिक रुचिपूर्ण तथा उपयोगी होते है। अनेक लोग केवल विज्ञापनों के उद्देश्य से समाचार-पत्र पढते हैं। समाचार पत्रों में वैवाहिक विज्ञापनों भी आते हैं। आप लडके या लडकी का विवाह इन वैवाहिक विज्ञापनों के द्वारा कर सकते हैं। इन वैवाहिक विज्ञापनों के आधार पर इन पार्टियों से सम्बन्ध स्थापित करने में सावधानी रखनी चाहिए क्योंकि इनमें से कुछ वैवाहिक विज्ञापन-दाता झूठे होते हैं तथा अयोग्य लडके या लडकी से विवाह कराकर आपको ठगने का मंशा रखते है। किंतु ये सभी विज्ञापन नकली नही होते हैं। कुछ वैवाहिक विज्ञापन दाता बहुत असली होते हैं तथा उनसे सम्पर्क किया जाना चाहिए। आपको यह ज्ञान होना चाहिए कि गेहु को किस चलनी से छानना चाहिए।

अमेरिकन विश्लेषण के अनुसार,  समाचार-पत्रों में विज्ञापन तथा विज्ञापनों के मध्य समाचार आते है” यहां असत्य का तात्पर्य असत्य बोलने से है। कुछ अमेरिकनों का विश्वास है कि समाचार-पत्रों में विज्ञापनों में केवल सत्य होता है और सभी कुछ गप्प है। किंतु यह एक चरम दृष्टिकोण है। हमें अपने निर्णयों को संतुलित करने के लिए पडना चाहिए।

Read More.


Go Back