Print Document or Download PDF

बाल श्रमिक

Feed by Kumar Sanu Cat- Essay

बाल श्रम भारत में ही नहीं अन्य कई देशों में भी विवादित तत्य है। यह देश को प्रगति तथा औद्योगीकरण के लिए नुकसानदायक है। बाल श्रम केवल इसीलिए करवाया जाता है क्योंकि बच्चे आसानी से तथा कम पैसों में काम करने केल इए तैयार हो जाते हैं। भारत में बेरोजगारी बाल श्रम का एक मुख्य कारण है।

कई कार्यो के लिए औरतें तथा बच्चे आसानी से उपलब्ध हो जाते है तथा यह कम पैसों में काम करने को तैयार हो जाते हैं। कर्मचारियों का चयन करने के लिए तो विज्ञापन देने पडते हैं परंतु बाल श्रमिक बिना किसी खर्च के उपलब्ध हो जाते हैं।

अधिकतर इन बच्चों को आसान कार्य दिए जाते हैं इसलिए इन्हें किसी प्रकार को ट्रेनिंग नहीं दी जाती। न तो ट्रेनिंग में पैसा खर्च करना पडता है और न ही समय बर्बाद होता है।

बाल श्रम, समाज के लिए दुश्मन का कार्य करता है। सरकार, समाजवादी समाज सुधारक आदि हमेशा से बाल श्रम काअ विरोध करते आए हैं। ज्यादातर बाल श्रमिक, बन्धुआ मजदूर की तरह कार्य करते हैं तथा उनका बचपन कार्य करने में ही बीत जाता है तथा बडे होने पर वे बेरोजगारी का सामना करते हैं। कम पढे-लिखे होने के कारण उन्हें कोई-भी काम नहीं देता।

बाल श्रम को खत्म करने के लिए सरकार ने कई कानून बनाए हैं। परंतु इन कानूनों का कोई असर नहीं पडा। आज बच्चों को काम के बोझ के नीचे दबाया जा रहा है। क्योंकि इन कानूनों की लागू करने में कोई-न-कोई कमी रह गई है और इसी कारण बाल श्रमिक की समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है।

Read More.


Go Back