Print Document or Download PDF

टेलीफोन : लाभ और हानि

Feed by Kumar Sanu Cat- Essay

विज्ञान ने हमारे जीवन को सुविधाजनक बनाने के लिए हमें कई साधन उपलब्ध करवाये हैं। जिनमें टेलीफोन एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। टेलीफोन की मदद से हम किसी के भी विषय में घर बैठे जान सकते है।

पुराने समय मे किसी का हाल-चाल जानने के लिए हमें कई दिनों इंतजार करना पडता था तथा चिट्ठी आदि की सहयता लेनी पडती ठीक तब कहीं जाकर हमे अपने प्रियजनों के विषय में पता चलता था। परंतु टेलीफोन की मदद से अब हम घर पर बैठे हुए कहीं-भी किसी से भी बात कर सकते हैं, चाहे वह हमारे देश में हो या किसी अन्य देश में।

टेलीफोन से कई हानियां भी है, जैसे-आपके पडोसी अपने फायदे के लिए आपके घर से फोन करते हैं तथा उसका बिल आपको अदा करना पडता है। इसके अतिरिक्त टेलीफोन से कई और हानियां भी होती है, जैसे-ब्लेंक कॉल, धमकियां आदि।

टेलीफोन से हानियों से अधिक लाभ होटल हैं। हम बच्चों के विशायद में उनके अध्यापकों से घर बैठे बात कर सकते हैं तथा उनकी पढाई की पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

टेलीफोन का सबसे अधिक फयदा उयोगपतियों तथा डॉक्टरों को होता है। बीमार होने पर हम डॉक्टरों को घर बैठे बुला सकते हैं तथा उनसे बात करके द्वाईयों के विषय में घर बैठे पता कर सकते हैं।

टेलीफोन से हमें यदि फायदा है तो नुक्सान भी होता है। अत: हमें हर वस्तु के दोनों पहलुओं का सामना करना आना चाहिए क्योंकि यदि किसी वस्तु से कोई फायदा होता है तो उसके नुकसानों को भी बर्दाश्त करना चाहिए।

Read More.


Go Back