महानिम्ब, का वृक्" property='og:description'>
Print Document or Download PDF

महानिम्ब से रोगों से रोगों का उपचार

महानिम्ब से रोगों से रोगों का उपचार

Treatment of diseases with diseases from Chinaberry

महानिम्ब, का वृक्ष 100 फुट तक लम्बा होता है। इस पर मार्च के महीने में फूल खिलते है तथा फल जुलाई अगस्त के महीने में लगते है। इस वृक्ष की छाल का प्रयोग औषधि रुप में किया जाता है।

कान दर्द: जिन लोगों के  कान में दर्द होने लगता है ऐसे रोगी के कान में महानिम्ब की छाल का रस कान में डालने से दर्द बन्द हो जाता है।

बुखार तथा शारीरिक कमजोरी: जिस व्यक्ति का शरीर कमजोर होता है- ऐसे व्यक्ति को बुखार भी जल्दी-जल्दी आने लगता है। अत: ऐसे रोगी को महानिम्ब की छाल का रस शहद में मिलाकर दो-दो चम्मच सुबह-शाम सेवन कराने से तीन दिन में बुखार दूर हो जाता है और एक माह के सेवन से शरीर की कमजोरी दूर हो जाती है।

अतिसार रोग: अतिसार के रोग में महानिम्ब की छाल का एक चम्मच रस एक चम्मच शहद में मिलाकर रोगी को सुबह शाम सेवन करायें। 10 दिन में ही अतिसार का रोग दूर हो जाता है।

Read More.


Go Back