Print Document or Download PDF

500 सालों में गलती है प्लास्टिक की बोतल 

Feed by Manisha Cat- Education

 

500 Years of Fault Plastic Bottle

एक टन कागज़ को रीसाइकल करने से 17 पेड़ बचाए जा सकते हैं। रीसाइक्लिंग से जुडी ऐसी ही कई बातें टीचर से सूनी होगी आज ये पढ़िए।

रिसाइकल की प्रक्रिया हमारे पर्यावरण को नुक्सान से बचाती है। अगर हम कागज़, प्लास्टिक, कांच और अल्युमिनियम जैसी चीजों को फेंकने की बजाय उन्हें दोबारा उपयोग में लाने के लिए रीसाइकल के लिए भेज दें तो इससे हमारे पर्यावरण को लाभ होगा।

जानते हो रीसाइकल करने से पर्यावरण को फ़ायदा कैसे होता है? रीसाइकल करने से हमारे पेड़, ऊर्जा, गैस, तेल और पानी की बचत होती है। इतना हीं नहीं, रीसाइकल होने वाली चीजों का इस्तेमाल दोबारा होता है तो वे कचरे में नहीं जाती, जबकि कचरे से हमारी जमीन, हवा और पानी दूषित होते हैं. 

अगर कागज को रीसाइकल करे:- अगर हम 1  टन कागज़ को रीसाइकल करें तो इससे हम 683 गैलन तेल, 7 हजार गैलन पानी और 17 पेड़ों को बचा पाएंगे। इसके साथ साथ हमें ३.३ गहन मीटर कचरे की जमीन से भी निजात मिलेगी। 

आज सिर्फ टॉयलेट पेपर बनाने के लिए ही रोजाना 27 हजार पेड़ काटे जा रहे हैं। कम्प्युटर लैपटॉप आने के बावजूद अभी दुनिया ने कागज पर लिखने की आदत नहीं छोड़ी है। एक अनुमान के मुताबिक़, आज भी दुनिया का 95 फीसदी डेटा, कागज़ पर ही लिखा जाता है। हैरानी की बात यह भी है की डेटा लिखे हुए इन कागजों को दुबारा कभी देखा भी नहीं जाता।

सन 1031 में दुनिया में पहली बार कागज़ की रीसाइक्लिंग की गयी थी. जब जापान की दुकानों पर उपयोग हो चुके कागज़ को दोबारा खरीदा जाने लगा।

क्यों प्लास्टिक को नहीं फेकना चाहिए? 

  • कचरे में फेंकी हुई पानी की एक बोतल को गलने में 500 साल लग जाते हैं।
  • अमेरिका के लोग प्रति घंटे 25 लाख पानी की बोतलें फेंकते हैं। कुछ ऐसा ही हाल भारत का भी है।
  • अगर हम सिर्फ 1 फ्लास्टिक की बोतल को रीसाइकल करें तो इससे बची हुई ऊर्जा एक 60 वॉट के बल्ब को 6 घंटे तक जलाए रख सकते है।
  • प्लास्टिक के कचरे को लोग समुन्द्र में फेंक देते है। इसे गलने के कारण हजारों समुद्री जीव मौत का शिकार बनाते हैं। यह प्लास्टिक समुद्री जीवों को जेलीफिश जैसी प्रतीत होती है,
  • इसी भूल में वे उसे निगल लेते हैं। एक टन प्लास्टिक रीसाइकल करने से करीब 2000 गैलन गैसोलीन की बचत होती है।

कांच और एल्युमिनियम का 

  • अगर हम सिर्फ अमेरिका का उदाहरण लें, तो यहां के लोग प्रति वर्ष सोडा कैन और बोतलें इतनी तादाद में कचरे में फेंक देते हैं, जिनकी ऊर्जा से धरती से छांट तक का सफर 20 बार तय किया जा सकता है। एल्युमिनियम की एक कैन को रीसाइकल करके हम इतनी ऊर्जा बचा सकते हैं, जितनी ऊर्जा हमें आईपॉड में अपने किसी पसंदीदा गाने को सुनाने के लिए ऊर्जा चाहिए या फिर 2 घंटे टीवी चलाया जा सकता है। 
  • एल्युमिनियम को रीसाइकल करने का एक फ़ायदा यह भी है की उसे दोबारा बनाने में जितनी बिजली की खपत होगी, रीसाइकल कर उस बिजली का 95 फीसदी हिस्सा बचाया जा सकता है।

ये बातें भी जान लें 

  • अमेरिका की सरकार ने साल 2015 से अपने यहां सभी इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम के डेड होने पर उनको रीसाइकल के लिए अनिवार्य कर दिया है। अगर वहां कम्प्युटर, टीवी, ऐसी, फ्रिज जैसी चीजों को रीसाइकल करने के लिए नहीं दिया गया तो फिर 100 डॉलर के जुर्माने का प्रावधान भी है।
  • एक अनुमान के मुताबिक़, हर साल हम मनुष्य 6 अरब किलो कूड़े को समुन्द्र में फेंक देते हैं। इसमें ज्यादातर प्लास्टिक ही होता है।
  • वर्जिन (नया) प्लास्टिक को रीसाइकल करें तो इससे रीसाइकल हो चुके प्लास्टिक को फिर रीसाइकल करने में लगाने वाली ऊर्जा का 40 फीसदी हिस्सा काम खर्च होता है। 
  • फिनलैंड में हर 10 में से 9 प्लास्टिक की बोतल रीसाइकल के लिए वापस लौटा दी जाती है। इतनी हे नहीं, यहां कांच की 100 प्रतिशत बोतलों को रीसाइकल के लिए लौटाया जाता है।

तो दोस्तों अगर आप भविष्य को हमारे आने वाले पीढ़ी को पचाने चाहते हैं तो कृपया प्लास्टिक और बोतलों को कहीं मत फेंके उसे रीसाइक्लिंग के लिए दे दे धन्यवाद।

Read More.


Go Back