Print Document or Download PDF

जेनेटिक इंजीनियरिंग से बनाये जीवन के विकास का रास्ता

Feed by Manisha Cat- Education

देश में बायोटेक इंडस्ट्री काफी तेजी से आगे बढ़ रही है, ऐसे में बायोटेक्नोलॉजी और जुड़े क्षेत्रों से आनेवाले प्रोफेशनल्स के लिए नए नए मौके आ रहे हैं. जेनेटिक्स या जेनेटिक इंजीनियरिंग प्रोफेशनल्स के लिए इंडस्ट्री के अलावा रिसर्च व एकेडमिक्स में कैरियर के बेहतर विकल्प बन रहें हैं आइये जाने कैसे:- 

The path of development of life made from genetic engineering

The path of development of life made from genetic engineering<

समस्त जीवों में कोशिका शरीर की आधारभूत संरचना होती है. पेड़-पौधे से लेकर जीव-जंतुओं और मन्युष्यों में कोशिका संरचना और उसकी कार्यपद्धति के आधार पर उसके गन तय होते है. सामान्य से लेकर बेहद जटिल जेनेटिक कोड ही जीव के लक्षणों को निर्धारित करते है. दरअसल, जेनेटिक्स या जेनेटिक इंजीनियरिंग जीन के गुणों और लक्षणों या कहें जीवों में जैवकीय परिवर्तन के अध्ययन से जुड़ा हुआ विज्ञान हिअ. बायोटेक्नोलॉजी की यह शाखा कोशिका यानी सेल की सरचना और कार्यप्रणाली के व्यापक अध्ययन पर आधारित है. कोशिकाओं के विकास में डीएनए की भूमिका अहम होती है. साथ ही डीएनए अनुवांशिक गुणों को एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में ट्रांसफर करता है. जेनेटिक मोडिफिकेशन, स्पीशीज हाईब्रीडाइजेशन, इ-विट्रो फर्टिलाइजेशन जैसे तकनीके जेनेटिक इंजीनियरिंग या जेनेटिक्स से जुड़े पेशेवरों और शोधकर्ताओं के दिमाग की उपज है. 

जेनेटिक इंजीनियरिंग एक शोध आधारित क्षेत्र है, जिसका प्रयोग आज मेडिसिन से लेकर कृषि और पर्यावरण आदि क्षेत्रों में व्यापक स्तर पर हो रहा है. जेनेटिक इंजीनियरिंग आर्टिफिशियल तकनीकों से डीएनए सरचना और डीएनए के प्रतिरोपण से नई किस्मों या नई प्रजातियों के विकास के पीछे बढ़ा उद्देश्य होता है. 

पढ़ाई के लिए क्या है जरूरी 

इस क्षेत्र में विशेषज्ञता हासिल करने के लिए आपका जेनेटिक्स या इससे जुड़े क्षेत्रों जैसे- बायोटैक्नोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी, मोलीकुलर बायोलॉजी आदि में ग्रेजुएट या पोस्ट ग्रेजुएट होना जरूरी है. बायोटेक्नोलॉजी में यूजी या पीजी की पढ़ाई के दौरान जेनेटिक्स में स्पेशलाइजेशन किया जा सकता है. कुछ प्रतिष्ठित संस्थान बीटेक व बीटेक एमटेक इंटीग्रेटेड कोर्स में प्रवेश का मौक़ा देते है. जेएनयू द्वारा अखिल भारतीय स्तर पर एमएससी बायोटेक्नोलॉजी के लिए प्रवेश परिक्षा आयोजित के जाती है. 

कहाँ कहाँ मिलेंगे मौके 

बायोटेक्नोलॉजी और जेनेटिक्स के क्षेत्र में आपके लिए देश विदेश में भरपूर मौके है. रिसर्च लैब, यूनिवर्सिटी में ऐसे प्रोफेशनल की काफी मांग है, इसके अलावा आप फ़ार्म स्यूटिक्लस व मेडिकल इंडस्ट्री, एग्रीकल्चर, एफएमसीजी, फ़ूड परोसेसींग, बायो-एग्रीकल्चर और टीचिंग व एकेडमिक्स में कैरियर बना सकते है.   


कुछ प्रमुख संस्थान 

  • नॅशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ इम्यूनोलॉजी, नई दिल्ली.
  • सेंटर फॉर डीएनए फिंगरप्रिंट एन्ड डायग्नोटिक्स हैदराबाद. 
  • सेण्टर फॉर जीनोमिक्स एन्ड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी दिल्ली. 
  • अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली 
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ साइंस, बेंगलुरु विश्वविद्यालय, नई दिल्ली 

Read More.


Go Back