Print Document or Download PDF

एक्सपर्ट बनकर मौसम की जानकारी दें 

Feed by Manisha Cat- Education

मौसम विज्ञानियों की बढ़ती भूमिका को देखते हुए आज युवा इस क्षेत्र की और कदम बढ़ा रहे हैं. आप इस क्षेत्र में कैरियर बनाना चाहते हैं, तो कर्मचारी चयन आयोग आपको बेहतरीन अवसर प्रदान कर रहा है. SSC ने भारतीय मौसम विभाग में साइंटिफिक असिस्टेंट के 1102 पदों पर भारती के लिए आवेदन आमंत्रित किये हैं. 

भारत एक कृषि प्रधान देश है और कृषि को बेहतर बनाने के लिए सकरार द्वारा विभिन्न प्रकार के प्रयास किये जा रहे हैं. ब्लॉक स्तर तक मौसम की भविष्यवाणी की जाने की प्लानिंग भी इन प्रयासों में से एक है. मौसम की जानकारी सिर्फ कृषि के लिए ही नहीं, बल्कि एयरलाइंस की सुरक्षित उड़ानों, जहाज़ों के परिवहन एवं प्राकृतिक आपदा के पूर्वानुमान के लिए भी आवश्यक है, इसी के चलते आज सरकारी एवं गैर सरकारी दोनों ही क्षेत्रों मौसम विज्ञानियों की मांग बढ़ गयी है. ऐसे में यदि आप बदलते हुए मौसम में रूचि लेने के साथ उसके कारण होनेवाले प्राकृतिक बदलाव को समझने में दिलचस्पी लेते है, तो मौसम विज्ञान के क्षेत्र में बेहतरीन कैरियर बना सकते है. 

आवश्यक योग्यता क्या है 

इस क्षेत्र में कैरियर बनानेवाले अभ्यर्थी की भौतिकी और गणित पर मजबूत पकड़ होनी चाहिए, मेटियोरोलॉजी या एटमोस्फेरिक साइंस में चार साल की बीएससी डिग्री प्राप्त करनेवाले उम्मीदवार इस खेत्र में प्रवेश कर सकते हैं. इसके अतिरिक्त मौसम विज्ञान की कई शाखाएं हैं, जिनमें से किसी में भी अध्ययन कर अच्छा कैरियर बनाया जा सकता है. ये शाखाएं- क्लाईमेटोलॉजी, साइनोप्टिक मेटियोरोलॉजी, एग्रीकल्चरल मेटियोरोलॉजी व अप्लाइड मेटियोरोलॉजी आदि है. वे अभ्यर्थी जो मौसम विज्ञानं में डिप्लोमा या पीजी कोर्स करना चाहते हैं, उसके पास फिजिक्स व मैथ्स विषयों के साथ स्नातक डिग्री होना जरूरी है, उम्मीदवार की आयु 17 से 35 वर्ष होनी चाहिए.

परिक्षा से मिलता है प्रवेश 

मौसम विज्ञान पाठ्यक्रमों में उम्मीदवारों का चयन सामान्यतः प्रवेश परिक्षा के माध्यम से किया जाता है. यह परिक्षा अखिल भारतीय स्तर की होती है, जिसमें मेरिट के आधार पर विद्यार्थियों को विभिन्न राज्यों के कॉलेजों विश्वविद्यालयों में प्रवेश दिया जाता है, प्रवेश परीक्षाः वस्तुनिष्ठ प्रकार की होती है, जिसमें गणित, भौतिकी, रसायन, अध्ययन, इतिहास, समसामयिक घटनाक्रम, भारतीय राजव्यवस्था आदि से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते हैं. 

कहाँ हैं रोजगार के अवसर 

भारतीय मौसम विभाग में इस खेत्र के विशेषज्ञों के लिए सबसे ज्यादा रोजगार के अवसर हैं, इसके अलावा लोक निर्माण विभाग, विद्युत, डाकतार विभाग व रेलवे जैसे कुछ सार्वजनिक उपक्रमों में भी मौसम विशेषज्ञों की नियुक्ति की जाती है. साथ ही थल सेना, नौसेना व वायु सेना में भी मौसम से सम्बंधित जानकारी के लिए मौसम वैज्ञानिकों की जरुरत होती है. ऐसे कई व्यापार भी है जो अपने ज्यादातर निर्णय मौसम के आधार पर लेते हैं, वे भी मौसम वैज्ञानिकों की नियमित भर्ती करते हैं. 

प्रमुख संस्थान 

  • जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय, जबलपुर 
  • अटल बिहारी वाजपेयी हिंदी विश्वविद्यालय, भोपाल 
  • इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ साइंस, बेंगलुरु
  • शिवाजी विश्वविद्यालय, कोल्हापुर 

मौसम बिभाग ने मांगे हैं साइंटिफिक असिस्टेंट के 1102 पदों पर आवेदन 

 

The Meteorological Department has asked for applications of 1102 posts of Scientific Assistant.

स्टाफ सेलेक्शन कमीशन (एसएससी) ने भारतीय मौसम विबयान विभाग (आईएमडी) में साइंटिफिक असिस्टेंट के ग्रुप बी -1102 पदों पर भर्ती के लिए अधिसूचना जारी की है. 

योग्यता : न्यूनतम 60 प्रतिशत अंको में साइंस (एक विषय के रूप में फिजिक्स के साथ)/कम्यूटर साइंस/इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी/कम्प्यूटर एप्लीकेशन में स्नातक डिग्री या इलेक्रॉनिक्स एवं टेलीकम्युनिकेशन इंजीनियरिंग में डिप्लोमा होना अनिवार्य है. इसके साथ ही आवेदक 12वीं की परिक्षा फिजिक्स, कैमिस्ट्री, मैथ्स विषय से पास हो. 

आयु सीमा: आवेदन के लिए अधिकतम आयु सीमा 30 वर्ष निर्धारित की गयी है. आयु की गणना 4 अगस्त, 2017 के आधार पर की जाएगी.

वेतनमान : 9300 - 34800 +ग्रेड पे 4200 रुपये प्रतिमाह

चयन प्रक्रिया: उम्मीदवारों काचयन कम्प्युटर आधारित लिखित परिक्षा की मेरिट के आधार पर किया जाएगा

आवेदन शुल्क : 100 रुपये का भूतना ऑनलाइन माध्यम से करना होगा.

कैसे करें आवेदन : ऑनलाइन माध्यम से आवेदन करे.

अंतिम तिथि : 4 अगस्त, 2017 

विवरण के लिए देखें. : 

Read More.


Go Back