Print Document or Download PDF

जामुन के फायदें

Feed by sandy Cat- Health & Beauty

खुनी दस्तों पर : जामुन के हरे पत्ते ९ माशे एक छटाँक जामुन की गुठली पीसकर ३ माशे शाम को पानी के साथ दस दिन तक हैं और खटाई का परहेज करें।

खुनी दस्त : जामुन की गुठली एक तोले सुबह - शाम पानी में पीसकर दें।

संग्रहणी : जामुन के पेड़ की छाल सुखाकर महीन पीस लें। तीन तीन माशे सुबह शाम गाय के दूध की लस्सी से दें। तेल कहते का परहेज करें।

शुगर : जामुन की छाल या गुठली सुखाकर महीन पीसकर ६-६ माशे सुबह शाम ताजे पानी के साथ इस्तेमाल करें लाभ मिलेगा।

माहवारी के लिए : जामुन की हरी तजा चाल एक तोला आधा पाँव पानी में घोटकर सुबह -शाम पिलाने से माहवारी में अधिक रक्त आना बंद होगा।

ल्योकोरिया : जामुन की हरी ताजा छाल में सुखाकर महीन पीस ४-४ माशे सुबह - शाम बकरी के दूध से दें।

दांतों के लिए : जामुन की छाल बारीक कर मंजन करें।

धातु बंद : जिसका मसाना कमजोर हो और उसे स्वपन रोग हो तो पानी में जामुन की छाल पीसकर चार दिन पिएं तथा उसका खिचड़ी में भी इस्तेमाल करके आप उपयोग कर सकते है।

Read More.


Go Back